# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
गैस टैंकरों के आवागमन पर बिफरे ग्रामीण, रोड जाम कर रोका

फतेहाबाद : बठिंडा से सरदूलगढ़ होते हुए फतेहाबाद से गुजरने वाले गैस टैंकरों को मंगलवार दोपहर को गांव हिजरावां कलां के पास लोगों ने रोड जाम कर रोक लिया। इस दौरान आने जाने वाले अन्य वाहनों को गुजरने दिया, मगर गैस टैंकरों को यहां से गुजरने नहीं दिया गया। ग्रामीणों ने करीब पौने घंटे तक टैंकरों को रोके रखा और अपना विरोध जताया। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची सदर पुलिस ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि उनकी समस्या का समाधान करवाया जाएगा। जिसके बाद ग्रामीणों ने टैंकरों को जाने दिया।

मामले के अनुसार मंगलवार दोपहर को हिजरावां कलां के काफी संख्या में लोग पेट्रोल पंप के पास एकत्रित हो गए और ब¨ठडा-सरदूलगढ़ से यहां से होकर निकलने वाले गैस टैंकरों के आवागमन को लेकर विरोध जताया। ग्रामीण वीर¨सह, राजेश, मान¨सह ने कहा मार्ग की चौड़ाई कम है, चालक जब यहां सें गुजरते हैं तो दूसरे वाहनों को साइड नहीं देते और गांवों में हादसों का भी खतरा बढ़ जाता है। पहले ये ट्रक यहां से नहीं गुजरते थे, इसलिए इन ट्रकों को पुराने रास्ते से ही ले जाया जाए। ग्रामीणों ने कहा कि हादसे के कारण गैस रिसाव का खतरा भी बढ़ जाता है। कई बार प्रशासन को मांग की जा चुकी है लेकिन सुनवाई नहीं हो रही है।

--उपायुक्त से दोबारा मिलेंगे ग्रामीण:

सदर थाना कार्यकारी प्रभारी राजेश कुमार ने बताया कि ग्रामीणों ने गैस टैंकरों को रोका था, उनकी मांग है कि टैंकरों की वजह से यहां पर हादसे होते हैं। इसलिए यहां से नहीं गुजरने चाहिए। मामले को लेकर आसपास के गांवों के सरपंच दोबारा उपायुक्त से मिलेंगे