News Description
साफ मौसम में भी संकट, सुबह की ट्रेनें पहुची दोपहर बाद

बहादुरगढ़ :ट्रेन से रोहतक का सफर इन दिनों दूर की कौड़ी बन गया है। साफ मौसम में भी घटो तक ट्रेनों के लेट होने से यात्रियों को ठड के बीच कई-कई घटे प्लेटफार्म पर ही बिताने पड़ रहे है। मंगलवार को फिर से इस रूट पर संकट बन गया। रोहतक की तरफ सुबह की ट्रेनें दोपहर बाद पहुच पाई। रेलवे स्टेशन पर मंगलवार को सुबह दैनिक यात्री पहुचे तो, मगर सूचना बोर्ड को देखकर ही वापिस लौटने पर मजबूर हो गए। फटाफट बस या प्राइवेट सवारी वाहन का सहारा लिया और गंतव्य पर पहुचे। वजह यह थी कि ट्रेनें घटों तक लेट थी। जो ट्रेनें सुबह 7 बजे के आसपास पहुचनी चाहिए थी वह छह से सात घटे तक लेट थी। ऐसे में जब यह मालूम हुआ कि दोपहर एक बजे से पहले तो यहा से रोहतक के लिए कोई ट्रेन मिल ही नहीं पाएगी तो यात्रियों ने भी स्टेशन से वापस लौटना ही मुनासिब समझा। दैनिक यात्री संघ के प्रवक्ता सतपाल हांडा ने बताया कि जब से ठड का मौसम शुरू हुआ है तब से यही समस्या चल रही है। एक दिन भी ट्रेन समय पर नहीं पहुच रही है। इससे नौकरी पेशा यात्रियों और विद्यार्थियों को ज्यादा परेशानी हो रही है।

-----------

यह रही ट्रेनों की स्थिति :

रोहतक की तरफ जाने वाली कालिंदी एक्सप्रेस साढ़े 15 घटे, गोरखधाम एक्सप्रेस 13 घटे, दैनिक सुपर फास्ट 11 घटे, किसान एक्सप्रेस 6 घटे, अवध आसाम 13 घटे लेट रही। वहीं दिल्ली की तरफ जाने वाली हिमसागर एक्सप्रेस 14 घटे, दैनिक सुपर फास्ट 10 घटे और किसान एक्सप्रेस 6 घटे लेट रही।