# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
कोहरे से राहत, कड़ाके की ठंड से छूटी कंपकंपी

 रेवाड़ी : जिले में कड़ाके की ठंड का दौर कम होने की बजाय लगातार बढ़ता जा रहा है। सोमवार को कोहरे से तो राहत मिली, लेकिन ठंड का असर कम होने की बजाय बढ़ गया है, जिसकी वजह से दिनभर ठिठुरन का असर बना रहा। सोमवार को न्यूनतम तापमान 2.4 और अधिकतम तापमान 20.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जिले में कोहरा नहीं रहा, लेकिन रेल यातायात पर इसका असर सोमवार को भी बरकरार रहा।

जिले में एक जनवरी से ही न्यूनतम तापमान 3 डिग्री सेल्सियस के आसपास चल रहा है। 4 जनवरी को यह माइनस 0.5 डिग्री तक चला गया था। इसके बाद अगले दिन यह 5.5 पहुंच गया। 6 जनवरी से फिर 3 डिग्री पर आ गया। न्यूनतम तापमान में लगातार गिरावट की वजह से पाला भी पड़ रहा है, जिसके कारण किसानों की ¨चता बढ़ गई है। कृषि विशेषज्ञों का कहना है कि यदि तापमान में गिरावट का क्रम यूं ही बरकरार रहता है तो फसलों में रोग लगने की भी संभावना बढ़ जाएगी। फिलहाल राहत की बात यह है कि दिन के तापमान में सुधार के बीच दोपहर में अच्छी धूप खिल रही है, जिससे कुछ राहत तो मिल रही है। इससे पहले लगातार कोहरे व पाला से फसलों को लेकर किसान ¨चतित हो उठे। तत्पश्चात किसानों से ¨सचाई भी प्रारंभ कर दी थी। वहीं सोमवार को अधिकतम तापमान 20.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो कि रविवार के मुकाबले 1 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। लोग सर्दी से राहत पाने के लिए दिन में पार्कों में धूप सेकते रहे और धूप जाते ही अलाव का सहारा लेने पर मजबूर हो गए।

सोमवार को अन्य दिनों के मुकाबले कोहरा बेहद कम रहा बावजूद इसके रेल यातायात व्यवस्था में कोई सुधार नहीं हो पाया। सोमवार को स्थानीय स्टेशन पर तमाम ट्रेन अपने निर्धारित समय से चार से पांच घंटे की देरी से आई।