# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
हरियाणवी ठाठ से रूबरू होंगे पूर्वोत्तर के छात्र

 रेवाड़ी: पहले दाल-बाटी चूरमा फिर मक्के की रोटी और सरसों का साग। मणिपुर सहित पूर्वोत्तर के विभिन्न राज्यों से राजस्थान व हरियाणा के बीस दिन के दौरे पर पहुंचे 32 विद्यार्थियों को खान-पान में कुछ ऐसे ही जायके का आनंद मिलेगा। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के अंतरराज्यीय जीवन दर्शन आयाम के तहत ये विद्यार्थी फिलहाल राजस्थान का भ्रमण कर रहे हैं। 13 जनवरी को रेवाड़ी के रास्ते गुरुग्राम पहुंचेंगे और 15 जनवरी तक तीन दिन गुरुग्राम के सोलह परिवारों के साथ अपने घर की तरह रहेंगे।

विद्यार्थी परिषद की टीम ने उन सोलह घरों का चयन कर लिया है, जिनके यहां मेहमान विद्यार्थियों को ठहराया जाएगा। अभाविप का यह विशेष सेवा प्रकल्प है। इसका सीधा मकसद यह बताना है कि तुम हमारे और हम तुम्हारे। हम आपका जीवन दर्शन समझेंगे और आप हमारा जीवन दर्शन समझ लीजिए। Þहम भारतीयÞ का संकल्प तभी पूरा होगा जब राज्यों के बीच की दूरियां कम हो जाएगी।

अभाविप कई वर्षों से से हरियाणा, दिल्ली व आसपास के राज्यों से विद्यार्थियों को जहां सुदूर राज्यों में भेजती रही है, वहीं इसी तरह सुदूर राज्यों के विद्यार्थियों को दिल्ली व आसपास के राज्यों में कुछ दिन बिताने का न्योता दिया जाता है। राज्यों के बीच सांस्कृतिक संबंध मजबूत करने की ये अहम कड़ी है।