News Description
पीलिया की रोकथाम के लिए जारी की अधिसूचना

उपायुक्त मंदीप सिंह बराड़ द्वारा एपिडेमिक डिजिज एक्ट 1897 के तहत पीलिया की रोकथाम के लिए अधिसूचना जारी की गई है, जिसके तहत कल्पना चावला मैडिकल कालेज के निदेशक, सिविल सर्जन, सभी उप सिविल सर्जन, सभी वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी, नगरनिगम के आयुक्त,सभी उपमंडल अधिकारियों, हुडा के संपदा अधिकारी, जिले के सभी तहसीलदार व नायब तहसीलदार, सभी खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी तथा सभी नगरपालिकाओं के सचिव अपने सम्बन्धित क्षेत्र में बीमारियों की रोकथाम के लिए आवश्यक कदम उठाएंगे। 

उपायुक्त द्वारा दिए गए आदेशों में कहा गया है कि पीलिया की रोकथाम के दृष्टिगत सभी अधिकारी अपने अधीनस्थ ऐरिया में गन्ने के कोल्हू द्वारा तैयार रस, कटे-फटे व गले-सड़े फलों व सब्जियों , बिना ढके व खुले में रखी मिठाई, पकौड़ा, बिस्कुट व अन्य खाद्य पदार्थों की बिक्री पर पूर्णत: प्रतिबंध लगाने के जिम्मेदार होंगे । 

उपायुक्त ने अपने आदेशों में यह भी कहा कि आमजन से गंदे पानी की सप्लाई के बारे में कोई शिकायत प्राप्त होती है तो इसकी सूचना जनस्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग को भी दें ताकि पानी के नमूने लेकर पानी की गुणवत्ता की जांच करते हुए आम जन को स्वच्छ पेय जल उपलब्ध करवाया जा सके। आदेशों में सरपंचों और पंचों को भी हिदायत देने की बात कही गई है कि पीलिया रोग के लक्ष्ण पाए जाने पर इसकी सूचना तुरंत स्वास्थ्य विभाग को दी जाए। यह आदेश आज से आरम्भ होकर आगामी 31 दिसम्बर 2017 तक प्रभावी रहेंगे।