# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
सेव ट्री.सेव लाइफ अभियान के तहत चलाया पौधा रोपण अभियान

नारनौल:जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी विवेक यादव के दिशा निर्देशानुसार जिले के गांवों को हरा भरा करने के लिए वन विभाग के सहयोग से सेव ट्री-सेव लाइफ  अभियान के तहत आज गांव गांवड़ी जाट, सरेली, पवेरा एवं इस्लामपुरा मेेंं पौधा रोपण अभियान चलाया। 
इस अवसर पर मुख्यातिथि के रूप में वन विभाग के रेंज अधिकारी पे्रम कुमार व गिरीबाला अधिवक्ता ने शिरक्त की। उन्होनें अपने भाषण में संयुक्त रूप से कहा देश के प्रत्येक व्यक्ति अगर वृक्षों को बचाओ-पौधों को लगाओ की पहल करे तो हमारे देश में प्राकृतिक परिवर्तन देखने को जरूर मिलेगा। वृक्ष ही बारिश को धरती पर लाने में मदद करते हैं। उन्होंने कहा कि वृक्ष प्रत्येक व्यक्ति को प्राण वायु देने में भी सहायक होते हैं। पेड़-पौधे हमारे लिए प्रकृति के अनूठे वरदान है। इनसे हमें केवल हरियाली एवं फलों एवं फूलों की प्राप्ति ही नहीं होती बल्कि ये हमारे अच्छे स्वास्थ्य के लिए भी हमारे प्राकृतिक सहयोगी मित्र हैं। 
इस अवसर पर पैरालिगल वॉलियंटर संजय कुमार ने लोगों से अनुरोध किया कि वह हर वर्ष अपने जन्म दिवस पर एक पेड़ अवश्य लगाए। ये मानवीय जीवन चक्र में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इनसे न केवल भोजन संबंधी आवश्यकताओं की पूर्ति होती है बल्कि जीव जगत से नाजुक संतुलन बनाने में भी ये आगे रहते है।
 सर्व-धर्म एवं जन परोपकारी संस्था नई दिल्ली की नारनौल महिला शाखा प्रधान वर्षा यादव ने लोगों से कहा कि जिस प्रकार विद्वान चरक ने हरेक प्रकार के औषधीय पौधों का विश्लेषण करके बीमारियों में उपचार के लिए कई अनमोल किताबों की रचना तक कर डाली है। इसी प्रकार हमें जीवन को स्वस्थ व खुशहाल बनाने के लिए पेड़ लगाने की आवश्यकता है।