News Description
स्वच्छ सर्वेक्षण टीम पहुंची दादरी, जुटाई जानकारी

चरखी दादरी :देशभर में 45 सौ शहरों में स्वच्छता मिशन के लिए शुरू हुए सर्वेक्षण के लिए सोमवार दोपहर दो सदस्यीय टीम दादरी नगर परिषद कार्यालय में पहुंची। टीम ने नगर परिषद की ओर से स्वच्छता के लिए शुरू किए गए प्लान के अलावा मैन पावर व संसाधन की डिटेल ली। टीम यहां दो दिन तक रूककर कागजातों की जांच करेगी। इसके बाद अपनी रिपोर्ट तैयार कर कंपनी को सौंपेगी। शहर में ग्राउंड लेवल पर सर्वेक्षण के लिए टीम कब पहुंचेगी इसके बारे में अभी कोई जानकारी नहीं दी गई है। स्वच्छ सर्वेक्षण में दादरी नगर परिषद को पहली बार शामिल किया गया है। जिसके चलते नगर परिषद द्वारा पिछले कुछ दिनों के दौरान शहर में सफाई व्यवस्था को दुरूस्त बनाने के लिए अलग से प्रयास किए जा रहे थे। इसके लिए दो सफाई दरोगा व 32 कर्मचारियों की डयूटियां लगाई गई थी। इसके अलावा शहर का स्वच्छता ऐप भी बनाया गया था ताकि लोग गंदगी की शिकायतें वहां कर सके। सोमवार दोपहर सर्वेक्षण कंपनी की टीम दादरी नगर परिषद में पहुंची। दो सदस्यीय टीम ने यहां पर पालिका के

एमई के अलावा सेक्रेटरी से पालिका की ओर से ट्रांसपोर्ट कलेक्शन, प्रोसे¨सग-डिस्पोजल, ओडीएफ व अन्य कागजात की जानकारी ली।

------------

अलग-अलग टीमें बनाई: शर्मा

टीम का नेतृत्व कर रहे सीनियर असिस्टेंट बिटू शर्मा ने बताया कि कंपनी द्वारा सर्वेक्षण के लिए अलग-अलग टीमें बनाई गई है। उनकी टीम केवल कागजातों की जांच करेगी। ग्राउंड लेवल के सर्वेक्षण के लिए अलग से टीम गठित की गई है। वह टीम सर्वेक्षण के लिए कब आएगी इसकी जानकारी उन्हें नहीं है। वे अपनी जांच दो दिन में पूरी कर कंपनी के उच्चाधिकारियों को सौंप देंगे।

----------

धरातल पर स्थिति नाजुक

स्वच्छ सर्वेक्षण में बेहतर अंक पाने के लिए पहली बार इसमें शामिल हुई दादरी नगर परिषद बेशक स्वच्छता के लाख दावे करे लेकिन धरातल पर स्थिति पूरी तरह नाजुक है। बस स्टेंड परिसर, लघु सचिवालय के बैक साइड, पुरानी सब्जी मंडी के पीछे दूर तक फैले गंदगी के ढेरों को देखकर सहज की अंदाजा लगाया जा सकता है कि शहर में स्वच्छता की क्या स्थिति है। यदि सर्वेक्षण टीम ग्राउंड लेवल पर सही तरीके से कार्य करते हुए लोगों से फीड बैक लेगी तो दादरी नगर परिषद अंक पाने की दौड़ में कहीं दिखाई नहीं देगी।