# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
बस स्टैड के बाहर निजी बसों के जमावड़ा से बनी अव्यवस्था

 बहादुरगढ़ :शहर के बस स्टैंड के बाहर दिल्ली-रोहतक रोड पर निजी बसों के कारण व्यवस्था बिगड़ रही है। दोनों तरफ इन बसों को कई-कई देर तक खड़ा रखने के कारण एक तरफ जाम लगता है तो दूसरी तरफ रोडवेज को बीच सड़क रोकना मजबूरी है। ट्रैफिक पुलिस की ओर से इस तरफ ध्यान न दिए जाने से यह समस्या बन रही है।

बस स्टैड पर मेट्रो स्टेशन का निर्माण चल रहा है। ऐसे में दोनों तरफ अभी बेरिकेडिग भी बरकरार है। इसके कारण रोहतक जाने के लिए यात्री स्टैड के बाहर पश्चिमी छोर पर इतजार करते है। समस्या तब खड़ी होती है जब यहा पर निजी बसों को कई देर खड़ा कर दिया जाता है। झज्जार, रोहतक और बेरी की तरफ जाने वाली इन प्राइवेट बसों के कारण पीछे से आने वाली रोडवेज बसों को बीच सड़क रोकना पड़ता है। रोडवेज कर्मचारियों ने बताया कि पहले तो निजी बसों को स्टैंड के अंदर ज्यादा समय तक रोका जाता है। उसके बाद धीरे-धीरे बाहर निकलते है और स्टैड के बाहर बसें खड़ी कर दी जाती है। इससे यहा पर अव्यवस्था बन जाती है। जहा पर यात्री खड़े होते है वहा पर बस के ठहराव से एक तो यात्रियों के लिए यहा पर खड़े होना मुश्किल हो जाता है। दूसरा जो रोडवेज बसें आती है उन्हें रोकने के लिए जगह नही मिल पाती। मजबूरी में या तो बसों को सड़क के डिवाइडर के साथ लगती मुख्य लेन में ही रोकना पड़ता है या फिर इधर-उधर बस के ठहराव से यात्रियों को असुविधा और परेशानी होती है। सड़क पर बस रुकने से जाम की स्थिति बन जाती है।

दोनों तरफ बनी है समस्या

यह समस्या केवल एक तरफ नहीं बल्कि दिल्ली रोड पर भी यहीं समस्या बनी हुई है। यहा पर भी रोहतक की तरफ से आने वाली बसों को ज्यादा समय तक सड़क पर खड़ा रखा जाता है। नियम यह है कि यात्रियों को उतारने के बाद वहा मौजूद यात्रियों को चढ़ाने में जितना समय लगता है, उतने समय तक ही बसों को रोका जाना चाहिए, लेकिन कई बार तो 15 से 20 मिनट तक ज्यादा यात्रियों के चक्कर में बसें रोक दी जाती है। वहा पर मौजूद ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की ओर से इस तरफ ध्यान ही नहीं दिया जाता। इससे रोडवेज को भी नुकसान होता है। कायदे से तो जो बस स्टैंड से निकलती है उसे बाहर रोकने का प्रावधान ही नही है।

वर्जन..

बस स्टैंड के बाहर पुलिस कर्मी तैनात रहते है। यहा पर बसों को ज्यादा समय तक नहीं रुकने दिया जाता है। कई बार जब पुलिस कर्मियों की डयूटी दूसरी जगह होती है, तब हो सकता है बसों को यहा पर रोक दिया जाता हो। अब इस पर ध्यान दिया जाएगा।