News Description
हौसलों से उड़ान नामक जागरूकता शिविर का किया आयोजन

नारनौल: जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी विवेक यादव के मार्गदर्शन में चलाए जा रहे एसिड-अटैक पर हौसलों से उड़ान नामक अभियान के तहत आज नारनौल के वार्ड नंबर 21 एवं बस स्टैंड पर जागरूकता शिविर का आयोजन किया। 
               इस अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए अधिवक्ता राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि एसिड-अटैक हमारे समाज पर लगा एक दाग है। इससे पीडि़त महिला के शरीर के साथ-साथ उसकी आत्मा भी घायल हो जाती है। इसके अलावा कानून के तहत पीडि़त को मिलने वाले न्याय और आर्थिक हर्जाने के विषय में भी लोगों को जागरूक किया। उन्होंने बताया कि 326-ए आईपीसी के तहत 10 साल से उम्र कैद तक 326 बी के तहत एसिड डालने के प्रयास करने पर कम से कम 5 साल तक की सजा का प्रावधान है। 
        इस अवसर पर मुख्य वक्ताओं ने भी अपने विचार रखे। पैरालिगल वालियंटर जय शेखावत ने लोगों को ऐसा होने पर दी जाने वाली प्राथमिक सहायता के संबंध में लोगों को जागरूक किया।