News Description
उपायुक्त ने की सरपंचों व अधिकारियों के साथ बैठक

नारनौल, 8 जनवरी: जिले में दिल्ली-मुंबई फ्रेट कॉरिडोर के साथ बनने वाले मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब के संबंध में उपायुक्त डा. गरिमा मित्तल ने आज पंचायत भवन में प्रोजेक्ट के दायरे में आने वाले गांवों के सरपंचों व जिला के अधिकारियों की बैठक ली। इस बैठक में अब तक हुई प्रगति की समीक्षा की गई तथा साथ ही डीसी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि अब इस प्रोजेक्ट की हर सप्ताह समीक्षा बैठक होगी।
सरकार की योजना के अनुसार देशभर में दिल्ली-मुंबई फ्रेट कॉरिडोर के साथ आठ मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब बनाए जाएंगे। इनमें से एक इस जिले में बनाया जाना है। इस प्रोजेक्ट के लिए घाटासेर, तलोट व बसीरपुर की लगभग 1200 एकड़ जमीन चिन्हित की है। इसके अलावा इस हब से राष्ट्रीय राजमार्ग से जोडऩे के लिए गांव मुकंदपुरा, ताजीपुर व शाहपुर अव्वल गांवों की जमीन खरीदी गई है। सरकार ने अब तक लगभग 846 एकड़ जमीन किसानों से सीधी खरीद ली है। पहले फेज में 886 एकड़ की जरूरत होगी जो जल्द पूरी हो जाएगी। भविष्य में जरूरत पडऩे पर इस प्रोजेक्ट को 1200 एकड़ से अधिक भी लिया जा सकता है ताकि विश्व स्तर का औद्योगिक इंफ्रास्ट्रक्चर खड़ा किया जा सके। इस प्रोजेक्ट के लिए कई विदेशी कंपनियां भी प्रोजेक्ट स्थल का दौरा कर चुकी हैं। इससे पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भी दुबई में इसके लिए बड़े उद्योगपतियों को इसका न्यौता दिया था।