News Description
ठंड में ठिठुरते लोगों के लिए चुस्त हुआ प्रशासन

सोनीपत: कड़ाके की ठंड के बीच खुले आसमान के नीचे रात गुजारने को मजूबर लोगों को आश्रय दिलाने व उनकी सुध लेने के लिए आखिर प्रशासन ने तेजी दिखानी शुरू कर दी है। कोई भी बेघर व्यक्ति ठंड में परेशान न हो इसके लिए उपायुक्त के मकरंद पांडुरंग के निर्देशानुसार प्रशासनिक व नगर निगम अधिकारियों द्वारा बेघरों को स्थायी व अस्थायी रैनबसेरा में शिफ्ट किया जा रहा है। अधिकारी शुक्रवार की रात टीम बनाकर कई स्थानों पर निकले। राई क्षेत्र में एक दंपती के लिए तो राई रेस्ट हाउस के कमरे को अस्थायी रैन बसेरे में तब्दील कर दिया गया।

ठंड शुरू होने के बावजूद एक दिन पहले तक शहर स्थित स्थायी रैनबसेरा औपचारिक भूमिका निभाता ही दिख रहा था। अस्थायी रैनबसेरा का तो किसी को पता ही नहीं था। दैनिक जागरण ने बृहस्पतिवार को इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया था। इसके बाद प्रशासन अब चुस्त हो गया है। सोनीपत में एसडीएम जितेंद्र कुमार के नेतृत्व में सभी प्रशासनिक अधिकारी रात करीब 10 बजे सबसे पहले रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। यहां मौजूद कुछ बेघरों को शनि मंदिर के पास स्थित रैनबसेरे में भेजा गया। इसके बाद वह बारौटा गांव में स्थित राठधना रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। यहां सो रहे कुछ लोगों को उन्होंने कंबल दिए और वे¨टग हॉल में सोने का प्रबंध कराया। इसके बाद कुंडली व राई औद्योगिक क्षेत्रों का भी निरीक्षण किया गया।

तहसीलदार हितेंद्र शर्मा ने शनि मंदिर रैन बसेरा का निरीक्षण किया और उसके बाद बस अड्डे के पास अस्थायी रैन-बसेरा में आठ लोगों के लिए रजाई व गद्दे का इंतजाम कराया। वहीं गोहाना की एसडीएम सुभीता ढाका ने रात को गोहाना शहर में कई स्थानों का दौरा किया । एसडीएम खरखौदा राकेश कुमार ने भी खरखौदा शहर की सब्जी मंडी व अन्य स्थानों का दौरा किया।