News Description
अस्पताल में शराब के नशे में ड्यूटी पर पहुंचा कर्मी, सस्पेंड

सोनीपत : नागरिक अस्पताल में शराब पीकर ड्यूटी पर आने वाले ठेकेदार के अंतर्गत लगे चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी को हटा दिया है। महिला डॉक्टर ने ड्यूटी पर शराब पीकर आने का कर्मचारी पर आरोप लगाया था। साथ ही कर्मचारी द्वारा एक मंत्री का जानकार होने की धौंस देने का आरोप भी लगाया था। शिकायत पर पीएमओ ने कर्मचारी की ड्यूटी बदल दी थी, लेकिन अब उसके बाज न आने पर पीएमओ ने उसे नौकरी से हटा दिया।

नागरिक अस्पताल में हर रोज करीब 1200 ओपीडी होती है। ऐसे में यहां हर रोज करीब दो हजार लोग पहुंचते हैं। अस्पताल में मरीजों की बढ़ती संख्या व सुरक्षा की दृष्टि से कर्मियों की ठेकेदार के तहत भर्ती की गई थी, लेकिन कई बार कर्मचारी डॉक्टरों के लिए मुसीबत बन जाते हैं। 22 दिसंबर को आपातकालीन कक्ष में एक कर्मचारी शराब के नशे में ड्यूटी पर पहुंचा। महिला डॉक्टर ने उसे काम करने के लिए कहा तो उसने एक मंत्री की पहचान बताते हुए काम करने से मना कर दिया। पीएमओ द्वारा चेतावनी देकर ड्यूटी बदलने के बाद भी कर्मचारी बाज नहीं आया। अब उसे नौकरी से हटा दिया। इससे पहले भी कर्मचारी पर शराब पीकर आने के आरोप लग चुके हैं।

कर्मचारी की बार-बार शराब पीकर ड्यूटी पर आने के बाद काम न करने की शिकायत मिल रही थी। उसे पहले ड्यूटी बदलकर चेतावनी दी थी, लेकिन वह नहीं सुधरा। इसलिए उसे नौकरी से हटा दिया है। किसी भी कर्मचारी द्वारा यह लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी