News Description
फार्मेसिस्ट को सूचना दिए बगैर रद कर दिया प्रोग्राम

पानीपत : हरियाणा फार्मेसी कौंसिल द्वारा जीटी रोड स्थित रोड़ धर्मशाला में एक दिवसीय कंटीन्यूइंग फार्मेसी एजुकेशन प्रोग्राम (सीएफइपी) का आयोजन किया गया था। कौंसिल ने फार्मेसिस्ट को सूचना दिए बगैर प्रोग्राम रद कर दिया। पानीपत, जींद, कैथल, हिसार, झज्जर आदि जिलों के लगभग 400 फार्मासिस्ट को बैरंग लौटना पड़ा।

हरियाणा फार्मेसी कौंसिल के चेयरमैन केसी गोयल के पद पर रहते हुए जिला पानीपत ड्रगिस्ट़्स एवं केमिस्ट्स एसोसिएशन के सहयोग से सीएफइपी की तारीख व स्थान तय किया गया था। शनिवार की देर सायं तक भी फार्मासिस्ट अपडेट रहे लेकिन सीएफइपी के रद होने की सूचना नहीं थी। सभी फार्मासिस्ट सर्दी में ठिठुरते हुए रोड़ धर्मशाला पहुंचे। कौंसिल के सदस्य नहीं पहुंचे तो सदस्य कैलाश चंद्र खन्ना को कॉल की गई। खन्ना ने बताया कि भ्रष्टाचार व जालसाजी आदि के आरोप में गोयल को सरकार ने बर्खास्त कर दिया है। उनके खिलाफ एफआइआर भी हुई है। वह सभी रिकॉर्ड आलमारी में बंद कर चाबी अपने साथ ले गए थे। इसके चलते सीएफइपी को रद किया गया है। सूचना मिलने के बाद सभी फार्मासिस्ट अपने घरों को लौटते देखे गए।

 कौंसिल द्वारा फार्मासिस्ट को पांच वर्ष में दो बार सीएफइपी के जरिए दवाओं संबंधी विभिन्न नई जानकारियां दी जाती है। प्रमाण पत्र प्रदान किए जाते हैं। सीएफइपी में हिस्सा लेने वाले फार्मासिस्ट का ही लाइसेंस नवीनीकरण किया जाता है