# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
आयकर विभाग के नोटिस से सदमें में बाप-बेटा

 पंचकूला : गांव निचली चौकी में आयकर विभाग की ओर से थमाए गए 70 लाख के डिमांड नोटिस के बाद बाप-बेटा सदमें में हैं। गाव निचली चौकी पोस्ट ऑफिस देवीनगर पंचकूला निवासी शाम लाल शर्मा (रिटायर्ड हेड टीचर) और उनके बेटे सुमेश कुमार शर्मा ने बताया कि 17 जुलाई को आयकर विभाग की ओर से घर में एक नोटिस भेजा गया था।

नोटिस में लिखा गया था कि निजी बैंक मनीमाजरा से आपके अकाउंट से 15 अक्टूबर, 2009 से 1 अप्रैल, 2010 तक 40 लाख 40 हजार रुपये की कैश ट्रांजेक्शन हुई है। इसी तरह का अन्य नोटिस बेटे सुमेश कुमार शर्मा के नाम पर था, इसमें भी निजी बैंक मनीमाजरा से 61 लाख 95 हजार रुपये की कैश ट्रांजेक्शन दिखाई गई है। बाप-बेटे ने बताया कि उन्होंने कभी भी निजी बैंक मनीमाजरा में अकाउंट नहीं खुलवाया है। निजी स्तर पर की गई जांच में पता चला कि उनके वोटर कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और फोटो का दुरुपयोग करके किसी ने उनके नाम के जाली हस्ताक्षर कर मनीमाजरा की ब्राच से बैंक अकाउंट खुलवाया और कैश ट्राजेक्शन करता रहा।

आयकर विभाग के नोटिस के अनुसार शाम लाल शर्मा के अकाउंट से 15 अक्टूबर, 2009 से लेकर 1 अप्रैल 2010 तक 46,40000 रुपये की कैश ट्राजेक्शन हुई है। इसके चलते उन पर पिछले कई सालों की आयकर जमा न करवाने के चलते 27 लाख 69 हजार 900 रुपये की रिकवरी डाली गई है। वहीं, सुमेश कुमार शर्मा के अकाउंट से 19 अगस्त, 2009 से लेकर 1 जुलाई, 2010 तक 61 लाख 95 हजार रुपये की कैश ट्राजेक्शन और ड्राफ्ट बनाने के चलते 36 लाख 64 हजार 2781 की अदायगी निकाल दी गई। शाम लाल शर्मा के अनुसार बैंक में दस्तावेजों पर उनके जाली हस्ताक्षर किए गए थे।