# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
अतिथि अध्यापकों ने 15 दिन के लिए स्थगित किया धरना

 महेंद्रगढ़ : हरियाणा अतिथि अध्यापक संघ के शिष्टमंडल को शिक्षामंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा से मिलने के बाद पूरा भरोसा है कि उनकी मांगों को जल्द से जल्द पूरा किया जाएगा। इसके लिए शिक्षामंत्री ने 15 दिन का समय मांगा है। शिक्षामंत्री के कहने पर आंदोलन व धरने दो सप्ताह तक स्थगित रहेंगे।

संघ के चरखी दादरी जिला प्रधान जितेंद्र कलकल ने कहा कि शिक्षामंत्री से अतिथि अध्यापकों के शिष्टमंडल से विस्तार से बातचीत हुई। इसी दौरान एसीएस केके खंडेवाल भी उपस्थित थे। शिष्टमंडल के सदस्यों ने बताया कि उनकी भर्ती के दौरान सरकार ने सर्विस रूल्स के हर नियम का पालन किया था। इसके लिए कागजात भी प्रस्तुत किए गए। विस्तार से बातचीत होने के बाद शिक्षामंत्री ने शिष्टमंडल को हर समस्या का हल निकलवाने का पूर्ण भरोसा दिया। नियमित करने के लिए समय लगने की बात कहते हुए समान काम समान वेतन के लिए 15 दिन का समय देने को कहा ताकि इस दौरान वित्तमंत्रालय व अन्य जरूरत अनुमति ली जा सके।

कर्मचारी नेताओं के अनुसार शिक्षा मंत्री ने कहा कि एक भी अतिथि अध्यापक को सरकार ने नहीं हटाया है और न ही आगे इस तरह की सरकार की कोई मंशा है। बीजेपी सरकार अतिथि अध्यापकों के प्रति सहानुभूति रखती है। वे हमेशा गेस्ट टीचरों के साथ खड़े रहे हैं। शिष्टमंडल ने शिक्षामंत्री के सामने अनेक न्यायालयों के निर्णय व पालिसी दी जिनके तहत गेस्ट टीचर को नियमित किया जा सके। शिक्षामंत्री ने गेस्ट टीचरों ने 15 दिन तक धरने स्थगित करने व आंदोलन को वापस लेने की बात कही। अतिथि अध्यापकों ने शिक्षामंत्री की बात को स्वीकार कर लिया।

शिष्टमंडल की बातचीत में मुख्याध्यापक कैलाश पाली की विशेष भूमिका रही। महेंद्रगढ़ जिला प्रधान सुरेश कुमार, राव मंधीर ¨सह, उपाध्यक्ष प्रेमप्रकाश शर्मा, प्रदेश सचिव शैलेंद्र व संगठन सचिव शमशेर ¨सह महेंद्रगढ धरने की ओर से शिष्टमंडल में शामिल थे।