News Description
नहरी पानी की मांग को लेकर तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा

रानियां : रानियां शहर, गांव धनूर व अभोली में पेयजल सप्लाई के सैंपल फेल होने के बाद अब जिला पार्षद जरनैल ¨सह चंदी ने लोगों को नहरी पानी उपलब्ध करवाए जाने के लिए मुख्यमंत्री के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में उन्होंने क्षेत्र वासियों को शीघ्र नहरी पानी उपलब्ध करवाने की गुहार लगाई।

जिला पार्षद जरनैल ¨सह चंदी ने मुख्यमंत्री के नाम नायब तहसीलदार सोमनाथ दिए ज्ञापन में बताया कि हलका रानियां के गांव धनूर, अभोली व दो ट्यूबवेल रानियां शहर सहित 5 ट्यूबवेलों का पानी लेब द्वारा जारी की गई रिपोर्ट में फेल पाया गया है। रिपोर्ट के अनुसार पानी पीने योग्य नहीं है जिसके कारण लोगों में बीमारी फैलने का खतरा बना हुआ है। उन्होंने बताया कि रानियां व आसपास के क्षेत्र में जमीनी पानी काफी लंबे समय से खराब हो गया है लेकिन क्षेत्र में अभी भी पीने के लिए जमीनी पानी सप्लाई हो रहा है। जमीनी पानी में अधिक मात्रा में शोरा होता है। जमीन से निकलने वाले दूषित पानी को पीने से लोग धीरे-धीरे बीमारियों में जकड़ते जा रहे हैं यह। आज क्षेत्र के लोगों को मजबूरी इस पानी को पी पड़ रहा है। दूषित पानी को पीकर क्षेत्र के लोगों समय से पहले ही बूढ़े होते जा रहे हैं। इस पानी को पीकर क्षेत्र के लोगों में बीमारियां बढ़ रही है। रानियां क्षेत्र में पीने के लिए जमीनी पानी पिछले काफी लंबे समय से घरों में सप्लाई किया जा रहा है। लेकिन सरकार इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रही है। लोगों को बीमारियों से बचाने के लिए क्षेत्र में आज नहरी पानी मुख्य मांग है।