# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
रोडवेज कर्मियों ने दो घंटे किया प्रदर्शन

रोहतक : केन्द्र सरकार द्वारा राज्य सभा में लाए जा रहे सड़क परिवहन एवं सुरक्षा अधिनियम 2017 के विरोध में रोडवेज कर्मियों ने दो घंटे तक शुक्रवार को विरोध प्रदर्शन किया। राष्ट्रीय ट्रांसपोर्ट फेडरेशन के आह्वान पर हरियाणा रोडवेज कर्मचारी संयुक्त सघंर्ष समिति रोहतक डिपो द्वारा विरोध प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई। वहीं, मांगे न माने जाने पर कर्मचारियों ने आंदोलन करने की बात कही और सरकार को अंजाम भुगतने की चेतावनी दी।

प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व डिपू प्रधान युद्धवीर दांगी व सतबीर मुंडाल द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कर्मचारी नेताओं ने कहा कि यह बिल राज्यसभा में पारित होने पर न केवल परिवहन कर्मचारियों के लिए घातक साबित होगा, बल्कि प्रदेश की जनता को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि इस बिल में गलती से यातायात के नियम तोड़ने पर भारी जुर्माने का प्रावधान किया गया है, जिससे वाहन चलाना काफी जोखिम भरा होगा। साथ ही, उन्होंने कहा कि इस बिल के लागू होने से लाखों लोग बेरोजगार हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकार बड़े पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए इस बिल को लागू कर रही है।

सरकार को कर्मचारियों व जनता के भावनाओं से कोई सरोकार नहीं है। उन्होंने चेताया कि अगर सरकार ने यह बिल लागू किया तो रोडवेज कर्मचारी पूरे देश में आंदोलन करने पर मजबूर होंगे। साथ ही उन्होंने सरकार से इस बिल पर रोक लगाए जाने की मांग की। वहीं परिवहन बेड़े में 14 हजार नई बसें शामिल करने की मांग की, ताकि बेरोजगारो को रोजगार उपलब्ध हो सके और लोगों को सस्ती परिवहन सेवाएं उपलब्ध हो।

यूनियन के प्रदेश कोषाध्यक्ष दीपक बल्हारा व उपप्रधान सुमेर सिवाच ने भी अपने विचार रखे। प्रदर्शन का संचालन जयकुंवार दहिया व विपिन ग्रेवाल ने किया। प्रदर्शनकारियों में रमेश डीघल, रामधारी, रणबीर दांगी, सत्यवान, जसवंत वैद्य, राजकुमार गिल, हिमत राणा, प्रदीप हुड्डा सहित सैकडों कर्मचारी शामिल रहे