News Description
नए मोटर व्हीकल एक्ट के विरोध में गरजे रोडवेज कर्मी

 कुरुक्षेत्र :केंद्र सरकार द्वारा तैयार किए गए नए मोटर व्हीकल एक्ट के विरोध में शुक्रवार को जिला रोडवेज कर्मचारियों ने जमकर बवाल काटा। कुरुक्षेत्र के नए बस अड्डा परिसर में प्रदर्शन हुए रोडवेज कर्मचारियों ने केंद्र व राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और चेतावनी भी दी कि यदि निजीकरण का प्रयास किया तो वे पूरे प्रदेश में रोडवेज का चक्का जाम कर दें। प्रदर्शन के दौरान कर्मचारियों को संबोधित करते हुए सर्व कर्मचारी संघ के प्रधान बलवंत ¨सह ने कहा कि पहले तो प्रदेश सरकार आए दिन रोडवेज को निजी हाथों में सौंपने के लिए नए-नए हथकंडे अपनाती रहती है, लेकिन अब केंद्र सरकार ने रोडवेज कर्मचारियों के खिलाफ नया बिल पेश कर दिया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार मोटर व्हीकल एक्ट बिल लोकसभा में पहले ही पास कर चुकी है। यदि ये बिल राज्य सभा मे भी पास हो गया तो नया कानून बनने पर रोडवेज विभाग के पूर्ण निजीकरण का रास्ता साफ हो जाएगा।

हरियाणा रोडवेज कर्मचारी यूनियन हरियाणा के राजेश गोयल ने कहा कि इस बिल के बाद एक राज्य से दूसरे राज्य में लंबी दूरी के रूट परमिट देने का अधिकार केंद्र सरकार के पास होगा व बड़े पूंजीपतियों को हजारों रूट परमिट दिए जाएंगे। इसके अलावा दुर्घटना होने पर चालक को लाखों रूपये जुर्माना कई वर्ष की जेल का इस बिल में प्रावधान है। जिससे रोजगार समाप्त हो जाएंगे व कार्यशाला का पूरा कार्य कंपनियों को ठेके पर दिया जाएगा। ये सभी नियम सरकारी व सभी प्राइवेट वाहनों पर भी लागू होंगे। इसलिए इस बिल से सरकारी कर्मचारियों व आम जनता को भारी नुकसान होगा। छोटी-छोटी गल्तियों पर चालक लाइसेंस रद्द होने के साथ हजारों रुपये जुर्माना होगा। उन्होंने चेतावनी भी दी अगर सरकार ने निजीकरण करने के लिए कोई भी नया कानून बनाने की कोशिश कि तो वे कर्मचारी चक्का जाम करने से पीछे नहीं हटेंगे। इस मौके पर प्रेम ¨सह छौक्कर, इंद्र ¨सह पवन शर्मा, ओमप्रकाश, सुरेंद्र बारवा, संजीव कुमार, सुख¨वद्र सहित अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।