News Description
फसल बीमा योजना में किसानों को चार स्तर पर मिलेगा जोखिम का लाभ

 प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों को चार स्तर पर जोखिम का लाभ दिया जाएगा। इनमें से किसी भी परिस्थिति में होने वाले नुकसान की भरपाई बीमा कंपनी द्वारा की जाएगी। प्रदेश सरकार द्वारा योजना की वर्ष 2017-18 की नोटिफिकेशन जारी कर दी गई है। जिसमें खरीफ में धान, कपास, बाजरा व मक्का और रबी में गेहूं, जौ, चना व सरसों की फसल को अधिसूचित किया गया है। जिला सिरसा कलस्टर एक में आइसीआइसीआइ लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस कंपनी द्वारा फसल बीमा की सुविधा दी जाएगी।

ये होंगे स्तर

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में किसानों को चार स्तर पर फसल बीमा का लाभ दिया जाएगा जिसमें पहले स्तर पर कम बरसात या विपरीत स्थिति में बिजाई न होने के कारण क्षतिपूर्ति की जाएगी। दूसरे स्तर में बिजाई से कटाई तक। खरीफ फसल में व्यापक स्तर पर सुखा पडऩे, बाढ़, ओलावृष्टि, बवंडर, तूफान या आंधी के साथ तूफान आदि के कारण पैदावार में नुकसान होने पर क्षतिपूर्ति की जाएगी। तीसरे स्तर में फसल कटाई के बाद अधिकतम दो सप्ताह तक सूखने के लिए रखी गई फसल में तूफान, बरसात या असामयिक बरसात के कारण हुए नुकसान की भरपाई की जाएगी। चौथे स्तर के तहत किसी विशेष स्थान पर ओलावृष्टि, भूस्खलन तथा जलभराव की स्थिति में अलग-अलग खेतों में नुकसान की भरपाई के लिए बीमा का लाभ प्रदान किया जाएगा।

31 जुलाई बीमा कराने की अंतिम तिथि